Saturday, January 19, 2019

जोड़ प्रत्यरोपण होने के बाद शुरुआत में जोड़ों पर न दें जोर


हेल्थ  केयर 

जोड़ प्रत्यरोपण  के बाद मरीज दर्द रहित व सक्रिय हो जाता है। यदि जरूरी सावधानियों को नजरंदाज किया जाए तो दोबारा जोड़ प्रत्यरोपण  की जरूरत पड़ सकती है।

जमीन पर बैठने से बचें 

जोड़ प्रत्यरोपण  के बाद नियमित रूप से बैठकर काम करने के लिए कुर्सी  का इस्तेमाल ही ठीक रहता है। जमीन पर बैठने ,सीढिया  चढ़ने से बचें।  शुरू में एक किलोमीटर घूमें।  इसके बाद हर सप्ताह 250 मीटर की बढ़ोत्तरी करें।  घूमना डायबिटीज व ब्लड प्रेशर में भी फायदेमंद होता है। 

वजन नियंत्रित रखें 

जोड़ प्रत्यरोपण  करवा चुके मरीज को दांतों का इलाज, पेशाब में जलन, फोड़े-फुंसी होने पर तुरंत डॉक्टर से पपरामर्श लेना चाहिए।  मरीज को साल में एक बार सर्जन को दिखाना चाहिए।  समस्या होने पर सर्जन से मिलें।  सिगरेट और शराब पिने वाले लोगों के घुटने और दूसरे जोड़ में तकलीफ का खतरा अधिक रहता है।  उन्हें एवैस्कुलर नेक्रोसिस की समस्या होती है जिससे कार्टिलेज  खराब होती है। 

स्पोटर्स पर ध्यान दें 

ऑपरेशन के बाद तैरना, साईकिल चलना, गोल्फ व डबल्स बैडमिंटन खेलने की अनुमति होती हैं, लेकिन फुटबाल, वॉलीबॉल, बास्केटबॉल  नहीं खेलें।  



No comments:

Post a Comment