Wednesday, January 30, 2019

गैस और कब्ज की समस्या को कहें गुड बाय

बदलता खानपान और तनाव भरे जीवन में कब्ज, खट्टी डकार, गेंस और एसिडिटी की समस्या बढती जा रही है. समस्याओं के निवारण हेतू लाखों का खर्च करने के पश्चात भी समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है. अक्सर एक ही समाधान सभी के द्वारा बताया जाता है. खान-पान पर ध्यान दो.
गैस और कब्ज की समस्या को कहें गुड बाय
गैस और कब्ज की समस्या को कहें गुड बाय

समाधान

सुबह देर से उठने और रात को देर तक न सोने के कारण शरीर बीमारियों की चपेट में आ जाता है. शरीर को समय के अनुसार ढालना केवल ऋतु के अनुसार नहीं होता बल्कि परिस्थितियों के आधार पर भी होता है. कहने का भाव है की सेहत को सही बनाने के लिए कुछ तो परिश्रम करना होगा.
सुबह चार बजे उठें फ्रेश होकर योग, मोर्निंग वाक जैसी क्रियाओं में शामिल हों.
गैस और कब्ज की समस्या को कहें गुड बाय
गैस और कब्ज की समस्या को कहें गुड बाय



  • खाना खाने के कम से कम दो घंटे बाद पेट भरकर पानी पियें, ऐसा एक दिन नहीं बल्कि नियमानुसार करें.


लंबे समय तक एक ही स्थिति में बैठकर कार्य करने से बचें.


  • पेट साफ़ न होने की स्थिति में आप कम से कम बीस मिनिट तक पूर्ण जोश और फुर्ती से चलें. इससे आपको अवश्य लाभ होगा.


रात को सोने से पहले दस मिनिट उठक-बैठक और ताड़ासन करने का प्रयास करें. हफ्ते के पश्चात आपको अच्छा महसूस होने लगेगा.

  • दिन भर शारीरिक परिश्रम नही कर पाने से शरीर में मितापा और अन्य समस्या घर कर लेती है. इसलिए कुछ-न कुछ ऐसा कार्य अवश्य करें जिससे शारीरिक परिश्रम भी होता रहे.


कमर को कसकर बाँधने से शरीर में खून का संचार भी प्रभावित होता है. जिससे पाचन शक्ति में कमजोरी और गेंस जैसी समस्या को बढने के अवसर मिल जाते है.

  • कम से कम खाना खाते समय कमर को न कसें रखें. घर पर खुले और नार्मल कपड़े पहनने की कोशिश करें. स्वास्थ्य अच्छा हो तो प्रशंसा अक्सर सुनने को मिलती है इसके विपरीत शरीर स्वस्थ न होने पर ख़ुशी के माहोल का आनंद भी नहीं लिया जा सकता है.


खाना ऐसा हो जिसे शरीर को पचाने में अधिक परिश्रम न करना पड़े. हरी-पत्तेदार सब्जी, दूध और फलों का सेवन स्वास्थ्य के लिए सबसे उतम माने जाते है.

No comments:

Post a Comment